Hello Dosto

  • मेरा नाम है Deepak Rathor और आप पढ़ रहे है मेरा Blog जिसका नाम है Technicalhariji तो चलिए शरू करते है ,Dosto आज हम बात करेंगे NAT के बारे में की NAT क्या होता है NAT का पूरा नाम Network Address Translation है जिसका उपयोग Network Field में किया जाता है.

NAT का उपयोग बड़ी बड़ी Companies में किया जाता है Security Purpus के लिए क्यूंकि NAT का उपयोग कर हम अपने Real IP को छुपा कर Duplicate IP show कराते है जिससे Company का Real IP नहीं दीखता है 

Mobile Radiation क्या है और Radiation से कैसे बचें

For Example :-

  •  हमारे पास एक Lease Line connection है जिसका Network 192.168.1.1 है तो हमारे PC का IP Address 192.168.1.100  कुछ इस तरह होगा अगर हमें अपना PC का Real IP Hide करना है तो NAT Configure करना होगा।
  • NAT  Configure करने के लिए सबसे पहले हमे अपने Network का Default Gateway Check करना होगा उसके बाद उस Default Gateway को अपने Browser में type करना होगा 
  • जिससे आपके Modem का Login Page Open हो जायगा जिसमे आपको अपना Username and Password type करना है और NAT Option पर Click करना है और वहां आपको दो Option मिलेंगे Real IP और Fake IP, Real IP में आपको अपने PC की IP type करनी है 192.168.1.100. और Fake IP में आपको एक कोई भी IP Address टाइप करना है और SAVE कर देना है 
  • अब आपके LAN में लगे PC जो भी आपके PC से communicate करेगा तो Reply Fake IP से ही आएगा क्यूंकि हमने अपने Real IP को Translate  किया है Fake IP में.
  •  ऐसे ही आप अगर किसी Website को पिंग करते हो वो भी उसके  DNS से तो जब उस Website का reply आएगा तो वो उसके Fake IP से अगर आपको यह Check करना है तो निम्न Steps को follow करे। 

Follow this Steps:-

1. सबसे पहले आपको CMD window Open करना है with Administrator से।

2.  उसके बाद आपको उसमे TYpe करना है 
(PING WWW.YOUTUBE.COM)

3. इस Command के बाद जिस IP से Reply आएगा वो IP Fake होगा यह Check करने के लिए आप इस IP को Copy कर अपने Browser में Paste करना होगा। और देखना होगा की Youtube open हुआ की नहीं इस IP से Youtube Open  होता है तो Youtube ने अपने IP को Translate नहीं किया है और अगर किया है तो Youtube open नहीं होगा 


Types Of NAT :-
1. Static NAT 
2. Dynamic NAT 
3. PAT NAT 

Static NAT :-
Static NAT में IP address को One to One Translate किया जाता है 


Dynamic NAT :–
Dynamic NAT में कई  IP address को  एक IP  में Translate  किया जाता है Many To One 


PAT NAT (Port Address Translation ):-
PAT NAT में कई IP को कई IP में Translate किया जाता है Many To Many 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here