हेलो दोस्तों TechnicalHariJi में आपका एक बार फिर से स्वागत है, दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम बात करने वाले है Storage Device की, Storage Device kya hai और ये कितने प्रकार की होती है और इससे पहली पोस्ट में हमने बात की थी SSD और HDD के बारे में मुझे उम्मीद है की आपको वो पोस्ट अच्छे से समझ आयी होगी और हमारी सभी पोस्ट आपको पसंद आ रही होंगी

ये सवाल बहुतों के मन में कभी न कभी तो आया हो होगा लेकिन बहुत खोजने पर भी detailed में जानकारी हिंदी में कहीं पर भी उपलब्ध नहीं है, जिसके चलते बहुत से लोगों को सही माईने में Data Storage Device क्या है और इसके कितने Types है के बारे में पूरी जानकारी नहीं होती है. जैसे की इसके नाम से ही पता चलता है की ये कुछ ऐसे device हैं जिनका इस्तमाल data या information को digitally store करने के लिए होता है.


इन्हें Alternatively Digital storage, Storage media, Storage medium या Storage device के नाम से भी जाना जाता है. ये कुछ इसप्रकार के Hardware device होते हैं जो की data या information को digitally store करके रखते हैं और वो भी

अगर हम Computers की बात करें तब ये data storage ऐसे जगह होते हैं जो की data को electromagnetic और optical form में store करते हैं जिससे की computer processor जरुरत पड़ने पर इन data को बड़ी आसानी से access कर सकें. तो फिर बिना देरी किये चलिए जानते हैं की आखिर ये Storage Device kya hai और ये कितने प्रकार के होते है

Storage Device

Storage Device क्या है – Storage Device in Hindi

Computers में जो storage device का इस्तमाल होता है वो मुख्य तोर से दो प्रकार के होते हैं.

  1. Primary Storage Device
  2. Secondary Storage Device

यहाँ पर अगर में Primary Storage Device in Hindi की बात करूँ तो उनका memory temporary होता है, या जिसे की volatile भी कहते हैं. इसके साथ इनमें limited memory होती है. उदहारण के तोर पर RAM.

वहीँ अगर में Secondary Storage Device in Hindi की बात करूँ तो उनका memory permanent होता है. इसके साथ ये बड़ी मात्रा में data को store कर सकते हैं. उदहारण के तोर पर Hard Drives.


Primary Storage क्या है – और इसमें कौन कौन Memory से आते है

प्राइमरी मेमोरी (Primary Memory) दो प्रकार की होती है –

  • RAM (Random Access Memory)
  • ROM (Read Only Memory)

RAM क्या है और कितने प्रकार की होती है – Random Access Memory in Hindi

इस Memory को Computer की अस्‍थाई Memory भी कहते हैं इसमें कोई भी Data Store नहीं रहता है जब तक Computer ON रहता है तब तक RAM में Data या Program अस्थाई रूप से Save रहता है और Computer Processor आवश्‍यक Data  प्राप्‍त करने के लिये इस Data का उपयोग करता है और जैसे ही आप Computer ShutDown करते हैं वैसे ही सारा Data Delete हो जाता है इस RAM को Volatile Memory भ्‍ाी करते हैं

RAM तीन प्रकार की होती है –

 

  • Dynamic RAM क्या है: – इसे DRAM के नाम से जाना जाता है, DRAM में Data Memory Cell में Store होता है, प्रत्‍येक Memory Cell में एक Tranjister और एक Capacitor होता है, जिसमें थोडा थोडा Data Store किया जाता है लेकिन लगभग 4 Mili Second बाद Memory Cell नियंत्रक Memory को Refresh करते रहते हैं Refresh करने का अर्थ है कि वह Data को Rewrite करते हैं, इसलिये DRAM काफी धीमी होती है, लेकिन यह अन्य Memory के मुक़ाबले कम बिजली खाती है और लंबे समय तक खराब नहीं होती है
  • Synchronous RAM क्या है: – Synchronous RAM,  DRAM से ज्‍यादा तेज होती है वजह है कि यह DRAM से ज्‍यादा तेजी से Refreshहोती है, Synchronous RAM CPU Clock Speed के साथ Refresh होती है, इसलिये ज्‍यादा तेजी से Data Transfer कर पाती है
  • Static RAM क्या है: – इसे SRAM के नाम से जाना जाता है, Static RAM कम Refresh होती हैं लेकिन यह Data को Memory में अधिक समय तक रख पाती है, यह Data को तब तक Store रखती है जब तक System को करंट मिलता रहता है यह बहुत तेजी से डाटा को Access करती है Static RAM को जब तक Refresh नहींं तब तक Data Store रहता है इसे Cache Ram भी कहते हैं

ROM क्या है और कितने प्रकार की होती है – Read Only Memory in Hindi



यह एक अस्‍थाई Memory है ROM का पूरा नाम Read Only Memory होता है, इसको तैयार करते समय जो Date or Program डाले जाते हैं वो खत्म नहीं होते हैं Computer का Switch OFf होने के बाद भी ROM में Save Data नष्ट नहीं होता हैं इसे Non-volatile Memory भी कहते हैं

रोम (ROM) तीन प्रकार की होती हैं –

  • PROM (Programmable Read Only Memory)
  • EPROM (Erasable Programmable Read Only Memory)
  • EEPROM (Electrical Programmable Read Only Memory)

 

  • PROM (Programmable Read Only Memory) क्या हैPROM यानि Programmable Read Only Memory को केवल एक बार ही Data Store किया जा सकता है यानि इसे मिटाया नहीं जा सकता है और ना ही बदला जा सकता है
  • EPROM (Erasable Programmable Read Only Memory) क्या हैEPROM का पूरा नाम Erasable Programmable Read Only Memory होता है यह PROM की तरह ही होता है लेकिन इसमें Store Program को Ultraviolet rays के द्वारा ही मिटाया जा सकता है और New Program Store किये जा सकते हैं
  • EEPROM (Electrical Programmable Read Only Memory) क्या है – EEPROM का पूरा नाम Electrical Programmable Read Only Memory होता हैं, एक New Technic EEPROM भी है जिसमे Memory से Program को विधुतीय विधि से मिटाया जा सकता हैं

Secondary Storage क्या है – और इसमें कौन कौन Memory से आते है



Secondary Memory को अलग से जोडा जाता है और यह Storage के काम आती है तो इसे Second Storage Device भी कहते हैं, Primary Memory के अपेक्षा इसकी गति कम होती है लेकिन इसकी Storage Capacity, Primary Memory अधिक होती है और जरूरत पडने पर इसे Upgrade (घटाया या बढाया) किया जा सकता है, आईये जानते हैं Secondary Memory कितने प्रकार की होती है –

  1. Magnetic Tape
  2. Megnetic Disk
  3. Optical Disk
  4. USB Flash Drive

Magnetic Tape क्या है – Magnetic Tape in Hindi

यह देखने में किसी पुराने जमाने के Tape Recorder की कैसेट की तरह होती थी, इसमें Plastic के Ribbon पर चुम्बकीय पदार्थ की परत चढी होती थी, जिस पर Data Store करने के लिये Head का प्रयोग किया जाता था बिलकुल Tape Recorder की तरह, इस डाटा का कितनी बार लिखा और मिटाया जा सकता था और यह काफी सस्‍ते होते थे

Megnetic Disk क्या है – Magnetic Disk in Hindi

Megnetic Disk दो प्रकार की होती हैं –

  1. Floppy Disk
  2. Hard Disk Drive
Floppy Disk क्या है और कितने प्रकार की होती है

Floppy Disk के बहुत पतले Plastic की एक गोल Disk होती है जो एक Plastic के कवर में बंद रहती थी, इस Disk पर चुम्बकीय पदार्थ की परत चढी होती थी, Floppy Disk आकार एवं और Storage के आधार पर दो प्रकार की होती है –

  1. Mini FloppyMini Floppy का Diameter 3½ इंच होता है और इसकी Storage Capacity 1.44 MB होती है इसे कंप्‍यूटर में रीड करने के लिये 3½ इंच के Floppy disk reader की आवश्‍यकता होती है, यह लगभग 360 RPM यानि Revolutions Per Minute यानि चक्‍कर/घूर्णन प्रति मिनट की दर से घूमती है इसी प्रकार
  2. Micro Floppy Micro Floppy का Diameter 5½ इंच होता है और इसकी Storage Capacity 2.88 MB होती है, इसके भी 5½ इंच के Floppy disk reader की आवश्‍यकता होती है
Hard Disk Drive क्या है – Hard Disk Drive in Hindi



आपको बता दें कि दुनिया की पहली Hard Disk Drive के निर्माता IBM हैं, जिसे 1980 में बनाया गया, यह एक यह Alluminiumधातु की DIsk होती है जिस पर पदार्थ का लेप चढा रहता है, यह DIsk एक धुरी पर बडी तेजी से घूमती है और इसकी Speed को RPM यानि Revolutions Per Minute यानि चक्‍कर/घूर्णन Per Minute में मापा जाता है, आजतक बाजार में 5200 RPM और 7200 RPM वाली Hard Disk Drive उपलब्‍ध है, Harddisk Drive  में Track और Sector में Data Store होता है. एक सेक्टर में 512 Bite Data Store होता है, 80 के दशक में आयी Harddisk Drive जिसके पहले Partition को नाम दिया गया “C” ड्राइव और आज जब आप Windows Install करते हो तो वह सबसे पहले “C” ड्राइव में ही Install होती है। अगर Storage की बात करें ताेHard Disk Drive को प्रमुख Secondary Memory के तौर पर इस्‍तेमाल किया जाता है वर्तमान में 1 Terabite से लेकर 100 Terabite तक की Harddisk उपलब्‍ध हैं

Optical Disk क्या है और कितने प्रकार की होती है



Optical Disk में पॉली Corbonet की गोल Disk होती है, जिस पर एक रासायनिक पदार्थ का लेप रहता है Optical Disk Data Digitally रूप में Secure रहता है, Data को Optical Disk पर Read और Write करने के लिये कम Capacity वाले Laser Light का प्रयोग किया जाता है Optical Disk तीन प्रकार की होती है –

  1. सीडी (CD)
  2. डीवीडी ड्राइव (DVD)
  3. ब्लू रे (Blu Ray
  • CD क्या है  CD का पूरा नाम Compect Disk है, इसकी Capacity Harddisk से कम और Floppy Disk से ज्‍यादा होती है, इसमें कुछ 700MB Data को Store किया जा सकता है, इसमें Data लगभग 30 वर्षो तक सुरक्षित रह सकता है, लेकिन इसकी सतह पर Scretch आने पर Data को read और Write करने में परेशानी होती है
  • DVD क्या हैCD की अपेक्षा DVD यानी DIgital वर्सटाइल डिस्‍क की Storage Capacity बहुत अधिक होती है, लेकिन देखने में यह दोनों एक जैसी ही लगती है DVD की Storage Capacity करीब 4.7 GB से लेकर 17 GB तक होती है, लेकिन Scretch वाली समस्‍या यहां भी है
  • Blu Ray क्या हैBlu Ray देखने में CD और DVD की तरह ही होती है लेकिन इसको Read और Write करने के लिये जिसे Laser Light का प्रयोग किया जाता है वह नीले रंग-जैसी बैंगनी किरण होती है इसलिये इसे Blu Ray कहा जाता है, इस Light की वजह से BLuray Disk पर 50 GB तक Data Store किया जाता सकता है

USB Flash Drive क्या है और ये कितने प्रकार की होती है

यह वर्तमान की सबसे Popular और Portable Secondary Memory Device है जो USB Port के माध्यम से Computer से जोड़ी जाती है जिसे हम PAN Drive के नाम से भी पुकारते है, इसका प्रयोग Video, Audio के अलावा अन्‍य Data को Save करने के लिए किया जाता है

  1. 2.0 USB Flash Drive
  2. 3.0 USB Flash Drive

Cloud Storage क्या है – Cloud Storage in Hindi



Cloud storage एक ऐसा storage space होता है जिन्हें की commercial data center में इस्तमाल किया जाता है जिसे कोई भी computer जिसमें Internet access हो से operate किया जा सकता है. इन्हें usually service provider के द्वारा provide किया जाता है. एक limited storage space को मुफ्त में provide किया जाता है, वहीँ ज्यादा space के लिए आपको subscription fee देना पड़ सकता है. ऐसे service providers के उदहारण हैं Amazon S3, Google Drive, Sky Drive इत्यादि .

Advantages

ये एक बहुत से अच्छा offsite backup है. ये किसी भी बाहरी कारणों जैसे की theft, floods, fire से affected नहीं होता है.

Disadvantages

  1. ये traditional external hard drives के मुकाबले ज्यादा expensive होता है. अक्सर इसमें आपको ज्यादा space के लिए subscription लेनी पड़ती है.
  2. इसमें एक Internet connection की जरुरत पड़ती है cloud storage को access करने के लिए.
  3. ये दुसरे local backups की तुलना में बहुत है slow होते हैं.

Primary Storage और Secondary Storage में क्या अंतर है

 Primary MemorySecondary Memory
CPU AccessCPU directly access कर सकता हैCPU directly access नहीं कर सकता
Other Nameइसको Main memory, internal memory भी कहते हैEsko Auxiliary and second storage कहा जाता है
NatureUsually Volatile होती है means computer बंद करने के बाद data save नहीं रहताNon-Volatile होती है एवं एक बार data save करने के बाद permananetly save हो जाता है |
Access SpeedPrimary Memory से data access करना fast होता है Data access, primary memory की तुलना मे slow होता है |
Storage CapacityAvailable in small sizeAvailable in higher size
Costछोटे size की memory भी expensive होती है Primary memory की तुलना मे सस्ती होती है |
Memory Example RAM, ROMHard Disk, Tapes, CD-ROM, DVD etc
Made off यह semiconductors से बनती हैयह magnetic and optical material से बनती है

Conclusion

Storage Device क्या है मेने इस पोस्ट के माध्यम से आपको बता दिया है और उम्मीद करते है की आपको पोस्ट पसंद आयी होगी में ये भी उम्मीद करता हु की आप हमारी सभी पोस्ट को भी पढ़ते होंगे तो अगर आपको हमारे सभी पोस्ट अच्छी लगे है तो आप हमे Comment कर बता सकते है ताकि हम अपने Writing Skill में और Improvement कर सके.

और आपने अभी तक हमारा Blog Subscribe नहीं किया है. तो Please कर ले but में ऐसी Tips और Trics आपके लिए लता रहता हु. Subscribe करने के लिए आपको अपना Email सबमिट करना है. थ्यं इसके बाद आपके पास एक Confirmation Mail आएगा जिसे Confirm कर देना है और ऐसा करते ही आप हमारे टीम मेंबर बन जाएंगे और सबसे पहली Post का Update आपको ही मिलेगा.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here