मोबाइल के अधिक प्रयोग प्रयोग से होने वाले नुकसानों में सबसे खतरनाक है मोबाइल रेडिएशन (Mobile Radiation) या मोबाइल विकिरण, मोबाइल रेडिएशन (Mobile Radiation) आपके स्‍वास्‍थ्‍य पर कितना दुष्प्रभाव डाल सकता है आप सोच भी नहीं सकते, तो आईये जानते हैं क्या है मोबाइल रेडिएशन – (What is Mobile Radiation) और इससे आपके शरीर पर क्‍या प्रभाव पडता है


Hello Dosto Swagat hai aap sabhi ka Technicalhariji me.  dosto aaj me apko bataunga ki Mobile Phone Radiation kya hai or aapke sharir ko inse kya nuksan ho sakta hai, aur sath hi apko bataunga ki aap in sab se kaise safe reh sakte ho.


Radiation क्या है? What is Radiation


रेडिएशन या विकिरण अंतरिक्ष की एक ऐसी ऊर्जा है जो तरंगों के रूप में चलती है, इन्‍हेंं आप रेडियो तरंगें (radio waves) भी कह सकते हैं ये मानवनिर्मित भी होती हैं और प्राकृतिक भी। सूर्य के प्रकाश में भी विकिरण होता है लेकिन हमारे वायुमंडल के कारण वह हमें हानि नहीं पहुॅचाता है, इसके अलावा टीवी का रिमोट, मोबाइल फोन और एक्स रे से भी रेडियेशन या विकिरण उत्‍पन्‍न होता है और जिस माइक्रोवेव में आप रसोई में खाना पकाते हैं उसमें भी रेडियो वेव्स से ही से खाना पकता है

जब आप एक्स रे करते हैं तो यहीं तरगें आपकी हड्डियों को छोडकर आपके शरीर के आर-पार निकल जाती है, अधिक माञा में या अधिक समय तक रेडिएशन के सम्‍पर्क में रहने से हमारे शरीर की कोशिकाओं पर बुरा प्रभाव पडता है

ऐसा नहीं कि रेडशयन हमेशा खतरनाक ही होता है आजकल कैंसर जैसे रोग को ठीक करने के लिए रेडियेशन थेरेपी का प्रयोग किया जाता है, इसमें हाई वोल्‍टेज किरणों से कैंसर की कोशिकाओं का समाप्‍त किया जाता है

Mobile Radiation क्या है? What is Mobile Radiation

मोबाइल फोन के इस्तेमाल के दौरान शरीर में जाने वाले रेडिएशन की मात्रा को स्पेसिफिक एब्सार्पशन रेट (एसएआर) कहते है, एसएआर वह स्तर होता है, यह बताता है कि हमारा शरीर कितनी मात्रा में रेडिएशन को ग्रहण कर सकता है।

भारत में वर्तमान में स्पेसिफिक एब्सार्पशन रेट (एसएआर) के लिये मानक तय किया गया है जिसके तहत प्रत्‍येक मोबाइल फोन का स्पेसिफिक एब्जार्प्शन यानी एसआर रेट का स्‍तर 1.6 वॉट प्रति किग्रा से ज्‍यादा नहीं होना चाहिये अगर यह इससे ज्‍यादा है तो यह आपके शरीर के लिए नुकसानदेह है

अपने मोबाइल का रेडियशन स्‍तर यानि स्पेसिफिक एब्सार्पशन रेट (एसएआर) जॉचने के लिये आप *#07# डायल करें, यह एक USSD Code और हां यदि आपके फोन में True Caller है तो उसे uninstall कर लें उसमें USSD Code काम नहीं करते हैैं अपने फोन में डायलर से Code डायल करें और अगर आपके फोन का SAR levels 1.6 वॉट प्रति किग्रा (1.6 W/kg) से अधिक है तो तुरंत अपना फोन बदलें.

Mobile  Radiation का हमारे Mind  पर क्या प्रभाव पढता है

WHO ने ऐसा कहा है कि माइक्रोवेव भी मोबाइल फोन के जैसे ही रेडिएशन को छोड़ते हैं। एक माइक्रोवेव को इस्तेमाल करते हुए आप जिस चीज़ को गर्म करना चाहते हैं, उसे उसके ऊपर रखते हैं। ऐसा ही कुछ मोबाइल फोन के साथ भी होता है। यानी आप इस समय गैर- आयनीकरण रेडिएशन से प्रभावित हो रहे होते हैं।

आपको बता दें कई शोधों में ऐसा भी सामने आ चुका है कि अगर आप 50 मिनट तक निरंतर एक मोबाइल फोन को इस्तेमाल करते हैं तो यह आपके दिमाग के सेल्स को प्रभावित कर सकता है। और अगर आप ऐसा निरन्त करते रहते हैं तो आपके दिमाग को भारी नुकसान हो सकता है।

Mobile  Radiation को लेकर WHO का जवाब

हालाँकि WHO ने पहले कहा था कि मोबाइल फ़ोन से होने वाले रेडिएशन से आपको किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं होता है। हालाँकि बाद में जब इस मामले ने तूल पकड़ा तो मोबाइल फोन को लेकर WHO की धारणा या इस बिंदु को बदलने के लिए 31 वैज्ञानिकों को दुनिया भर से इकट्ठा किया। इस शोध में लगभग 14 देश शामिल हुए थे।

इसके बाद सामने आया कि जैसे एक घर में माइक्रोवेव से बड़े नुक्सान हो सकते हैं, वैसे ही एक मोबाइल फोन से निकलने वाले रेडिएशन से मनुष्य को कैंसर भी हो सकता है। अब तक, वैज्ञानिकों ने केवल दो प्रकार के कैंसर का निर्धारण किया है जो इन परिणामों से सीधे संबंधित होते हैं। और यह दो प्रकार के कैंसर Glioma और Acoustic Neuromas।

Mobile  Radiation से आप अपना बचाव कैसे करे

जहां हम इस बारे में चर्चा कर चुके हैं कि अगर आप अपने मोबाइल फोन को इस्तेमाल करना बंद नहीं कर सकते हैं, वहां आप कुछ आसान से उपायों को अपनाकर इसके माध्यम से होने वाले रेडिएशन को काफी हद तक कम कर सकते हैं। आइये जानते हैं उन आसान से उपायों के बारे में को आपको कहीं न कहीं काफी हद तक मोबाइल रेडिएशन से बचा सकते हैं।

  • Keep the mobile phone away from the body

इस बात को आपको सभी प्रकार से गाँठ बाँध लेना है कि आपको फोन को जितना हो सके अपने शरीर से दूर रखना। अपने फोन को दिल के करीब वाली जेब में कभी न रखें, इसके अलावा अगर आप इसे अपनी पेंट की जेब में रखते हैं, तो यह भी आपके लिए सही नहीं है। ऐसा करने से आप मोबाइल फोन से होने वाले रेडिएशन से ज्यादा प्रभावित हो सकते हैं।

  • Use mostly landline at home or office

अगर आप घर में या ऑफिस में हैं तो अपने मोबाइल फोन के स्थान पर लैंडलाइन का इस्तेमाल करें, इससे आप इसकी हानिकारक किरणों की चपेट में आने से बच सकते हैं।

  • Keep your phone off

अगर हो सके और जिस समय आप अपने मोबाइल फोन को इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं तो इसे स्विच ऑफ करके रखे। खासकर रात में जब आप मोबाइल फोन का इस्तेमाल नहीं करते हैं तो उस समय आप इसे बंद करके भी सो सकते हैं।

  • Talk speaker on the phone

अगर आप मोबाइल फोन की डायरेक्ट किरणों से अपने आप को बचाना चाहते हैं तो आपको बता दें कि आप इसके माध्यम से स्पीकर फोन पर बातें कर सकते हैं। हालाँकि आपको ऐसा लग सकता है कि कोई दूसरा भी आपकी बातों को सुन रहा है, लेकिन आपका फोन आपके शरीर से तो दूर रहेगा।

Conclusion


I Hope apko ye Post pasand ayi hogi aur yha mene apko Mobile Phone Radiaton ke bare me Detail me samjha bhi diya hoga aur mene yha par apko bataya ki aap in sab se kaise apna bachav kar sakte hai aur iske baad bhi aap ko khi bhi koi problem hai to aap hume Comment kar puch sakte ho.

Thank You

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here