LTE aur VoLTE me kya antar hai“हेलो दोस्तों TechnicalHariJi में आपका एक बार फिर से स्वागत है दोस्तों आज की इस पोस्ट हम आपको बतायंगे की LTE और VoLTE क्या है और साथ ही बतायंगे की इनके बीच के अंतर के बारे में और देंगे आपको पूरी जानकारी इसके बारे में बस आप इस पोस्ट को शरू से एन्ड तक पढ़ते रहिये


आज के Article में हम आपको एक बहुत ही जरुरी जानकारी देंगे LTE Vs VoLTE In Hindi और यह हमेशा की तरह Hindi में होगी जिससे आपको और भी आसानी होगी, और आप इसे अच्छे से समझ पाएँगे| आज हम आपको LTE और VoLTE से जुड़ी बहुत सारी Information देंगे, और LTE Or VoLTE Me Kya Antar Hai ये भी आज आपको इस Post के माध्यम से बताएँगे|


आज 4g VoLTE और LTE की Technology तेजी से बढ़ती जा रही है| आप सभी अपने Mobile में LTE और VoLTE का Use करते होंगे, आज सभी 4g Network Use करते है लेकिन क्या आप जानते है की ये LTE Kya Hai या LTE aur VoLTE me kya antar hai.सभी LTE और VoLTE का Use तो करते है लेकिन ये कोई नहीं जानता की आखिर ये LTE और VoLTE क्या है और अगर आप भी नहीं जानते की 4g VoLTE Kya Hai तो हमारी ये Post शुरू से अंत तक जरुर पढ़े|

LTE और VoLTE क्या है

VoLTE क्या है – What is VoLTE in Hindi

एक example के तोर पे हम Jio को ले सकते हैं. जब Jio पहली बार लांच हुआ तब वो LTE enabled मोबाइल सेट ही प्रदान कर रहा था, LTE सेट में Internet चाहिए दुसरे मोबाइल को कनेक्ट या कॉल करने के लिए , जहाँ VoLTE enabled मोबाइल सेट में बिना Internet के भी कॉल किया जा सकता है.

मैं आपको थोडा ज्यादा आसानी से बताऊँ तो VoLTE में हम voice calls करने के लिए हम 4G LTE network का इस्तमाल करते हैं न की 2G or 3G network का. ज्यादातर लोगों में यह ग़लतफ़मी है की 4G का इस्तमाल केवल downloading, web browsing और विडियो streaming के लिए ही होता है तो मैं आपको बता दूँ की इसका इस्तमाल हम अपने voice quality को improve करने में भी कर सकते हैं.

VoLTE का Full Form

VoLTE ( Voice Over LTE) जिसका मतलब है की 4g LTE Network पर Hd Calling इसमें Call Quality बेहतर होगी और आवाज साफ सुनी जा सकेगी अगर आप भी अपने Smartphone की Voice और Video Quality अच्छी चाहते है तो आपके Mobile में VoLTE (Voice Over LTE) होना जरुरी है|

“Voice Over Long Term Evolution”

LTE क्या है – What is LTE in Hindi

LTE यह एक मोबाइल technology standard है. इसका full form –Long Term Evolution . आप को हमेशा से ये लग रहा होगा की आकिर क्यूँ LTE की बात हमेशा क्यूँ आती है जब भी हम 4G के बारे में कुछ कहें तो, ऐसा इसलिए क्योंकि 4G (Forth Generation) यह नाम LTE Technology को दरसाने के लिए दिया गया है. दोनों 4G और LTE सामान ही हैं. यहाँ एक जरूरी बात यह है की LTE सेट में Internet चाहिए दुसरे मोबाइल को कनेक्ट या कॉल करने के लिए.


Theoretically देखा जाये तो LTE की डाउनलोड क्षमता है 100 MB Per Second और अपलोड क्षमता है 50 MBits per second.

LTE ने CDMA और GSM Standard में Technological क्रांति लायी है, जिसे हम कुछ सालों पहले इस्तमाल करते थे. आजकल LTE नेटवर्क को हर जगह इस्तमाल किया जा रहा है, Internet Service Provider धीरे धीरे उनके नेटवर्क तो 3G से 4G में Upgrade कर रहे हैं. ये अपना आस्तित्व धीरे धीरे विस्तार कर रहा है.

LTE का Full Form

“Long Term Evolution”

VoLTE के फायदे क्या है – What are the benefits of VoLTE

  • बेहतरीन call quality

सबसे बड़ी उपलब्धि की बात यदि हम सोचें VoLTE की तो वह होगी इसकी बेहतरीन call quality. देखा जाये तो 2G और 3G के मुकाबले 4G में ज्यादा data ट्रान्सफर हो सकता है. एक प्रयोग से यह पता चला है की VoLTE में voice की quality तीन गुना 3G के मुकाबले और छे गुना 2G के मुकाबले यह बेहतर है, जिससे की tone की quality में खासा फरक दिख सकता है.

  • बेहतर Coverage और Connectivity

VoLTE में calls ज्यादा जल्दी और बेहतर कनेक्ट होता ही 2G और 3G के मुकाबले. जहाँ पर 4G coverage नहीं भी है वहां भी ये 2G और 3G का कवरेज इस्तमाल कर अपना नेटवर्क चालू रख सकता है. और तो और इसकी frequency बड़े buildings के दीवारों को भी भेद सकती है जहाँ की 2G और 3G के सिग्नल नहीं पहुँच सकते.

  • बेहतर Battery Life

जिस किसी ने भी यदि 4G का इस्तमाल किया है उसे यह जरूर मालूम चला होगा की VoLTE के इस्तमाल से उनके फ़ोन का बैटरी लाइफ जरूर बढ़ा होगा. ऐसा इसलिए क्योंकि जब भी आप एक call करते या receive करते है तब आपके फ़ोन को दुसरे नेटवर्क में स्विच करना पड़ता होगा जैसे की 4G to 2G or 3G, जैसे की 4G कॉल्स में लगातार switching नहीं होती दुसरे नेटवर्क में, यहाँ कॉल ख़तम होने के बाद ये अपने नार्मल नेटवर्क में आ जाता है. लगातार switching और बार बार दुसरे नेटवर्क की तलाश न होने के कारन यहाँ user को ज्यादा बैटरी लाइफ मिल जाती है .

  • Video Calling

VoLTE के इस्तमाल से आप बेहतरीन विडियो call कर सकते हैं. जैसे की हम जानते हैं की पहले भी हम दुसरे सॉफ्टवेर (software) जैसे Skype का इस्तमाल कर के Video Call कर पा रहे थे. पर इसके इस्तमाल से हमें किसी दुसरे 3rd Party Software की आवश्यता नहीं है.

Circuit -Switched Network क्या है

Circuit Switching Network उस नेटवर्क को कहा जाता है जिसमे जब दो लोग फ़ोन में बात कर रहे होते हैं (Voice कॉल) तब उन्हें एक लाइन जिसे की एक विशेस मात्रा की Bandwidth प्रदान की जाती है दिया जाता है, जिससे की उनकी voice कॉल सही तरह से चले और ये तब तक रहती है जब तक कॉल खत्म न हो जाती है.

Packet-Switched Network क्या है

Packet Switching Network उस नेटवर्क को कहा जाता है जिसमे जब दो लोग फ़ोन में बात कर रहे हैं (Voice कॉल) तब उनके voice message को टुकड़ों में बाँट दिया जाता है और तब तक भेजा जाता है जब तक उनकी कॉल समाप्त न हो जाती, इसमें Circuit Switching Network के जैसे एक विशेस मात्रा की Bandwidth प्रदान नहीं की जाती है

1G, 2G, 3G और 4G नेटवर्क क्या हैं? What are 1G, 2G, 3G and 4G networks


Wireless networks में “G” वायरलेस नेटवर्क Technology की “पीढ़ी(generation)” को दर्शाता है. तकनीकी रूप से पीढ़ियों को इस प्रकार परिभाषित किया गया है:

1G Networks को पहली analog cellular systems माना जाता है, जो 1980 की शुरुआत में शुरू हुआ था. उस समय से पहले भी रेडियो टेलीफोन सिस्टम थे फिर भी 1G नेटवर्क की कल्पना की गई थी और इसे केवल वॉयस कॉल्स के लिए डिज़ाइन किया गया था, जिसमे data services के बारे में कोई विचार नहीं किया गया था. (बस कुछ हेडसेट्स में built-in modems के कारन उपलब्धता अपवाद है

2G Networks 1990 के शुरू में शुरू किए गए पहले डिजिटल सेल्युलर सिस्टम हैं, जो बेहतर ध्वनि की गुणवत्ता, बेहतर सुरक्षा और उच्चतम क्षमता प्रदान करते हैं. GSM supports circuit-switched data (CSD) का Support करता है, जिससे उपयोगकर्ता dial-up data को डिजिटल रूप से place कर सकते हैं, ताकि network’s switching station को actual analog modem की कमी के बजाय actual डाटा मिले.

3G networks नए सेल्युलर नेटवर्क हैं जो 384 kbit/s की मोबाइल गति से data transfer करता है.

4G networks technology मोबाइल फोन communication standards की चौथी पीढ़ी को दर्शाती है. LTE और WiMAX को इस पीढ़ी के हिस्से के रूप में माना जाता है, हालांकि वे actual standard से कम हो जाते हैं.

आपका फोन 4G Enable है या नहीं कैसे पता करें

इस सवाल का कोई एक सामान्य जवाब नहीं है विभिन्न Handset निर्माता अपने फोन को अलग-अलग तरीके से बनाते हैं लेकिन आप निम्न विधियों में से एक को आज़मा सकते हैं और हमें यकीन है कि आप अपने फोन की 4G स्थिति का पता लगाने में सक्षम होंगे:


  1. अपने Phone के साथ आए user manual की जाँच करें. User manual book में specifications section को ढूंढें और देखें कि आपका फोन किस तरह के नेटवर्क का Support करता है यदि वहां पर 4G या LTE का उल्लेख होता है, तो आपका भाग्य अच्छा हैं! आपका फोन 4G enable phone है!
  2. यदि आपके पास आपके फोन के user manual(उपयोगकर्ता मैनुअल) की प्रति नहीं है, तो आप अपने फोन निर्माता की वेबसाइट पर जा सकते हैं. वे प्रायः user manual की PDF file ऑनलाइन download करने के लिए रखते है.
  3. अगर यह तरीका भी काम नहीं करता है, तो आप GSMArena Website पर जाकर अपने मोबाइल हैंडसेट की खोज कर सकते हैं. आपको specifications मिलेगा, यहां Network section की खोज करें और देखें कि आपका फोन 4G या Long Term Evolution (LTE) का Support करता है की नहीं ?

आप अपने Phone की Setting में भी देख सकते हैं आप कैसे जांच कर सकते हैं कि आपका फ़ोन 4G enable है की नहीं ?, इसके बारे मैंने नीचे बताया हैं. कृपया याद रखें कि अलग-अलग हैंडसेट निर्माताओं की phone setting की layout थोड़ा अलग-अलग होती है.

Android Phone के लिए

Settings > Mobile Networks > Network Mode पर जाएं यहां आप देखेंगे कि क्या आपके फोन में 4G / LTE मोड का चयन करने का विकल्प है. यदि मोड listed है, तो आपका फ़ोन 4G enable है.

I Phone के लिए

Settings > General > Cellular पर जाकर अगर आपको 4G LTE विकल्प दिखे , तो आपका फोन 4G enable है. आप 4G enable करने के लिए इस विकल्प का चयन कर सकते हैं

Windows Phone के लिए

Settings > Cellular + Sim > Highest connection speed पर जाएं यहां आपको यह देखना चाहिए कि LTE सूची में दिखाई दे रहा है या नहीं. यदि LTE विकल्प है, तो इसका मतलब है कि आपका फोन 4G enable है और आप 4G नेटवर्क से कनेक्ट करने का विकल्प चुन सकते हैं.

 

LTE और VoLTE में क्या अंतर है – What is the difference between LTE and VoLTE

अब तक हमने LTE और VoLTE क्या है और कैसे काम करता है  समझ लिया है, अब हम समझेंगे की इन दोनों में आकिर क्या अंतर है –

LTEVoLTE
Full Form है Long Term EvolutionFull Form है Voice Over LTE
इन्हें मुख्यत इन्टरनेट के लिए ही design किया गया है.इन्हें मुख्यत Voice और इन्टरनेट के लिए ही design किया गया है.
ये voice transmission को support नहीं करता.ये voice transmission और Data transmisssion दोनों को support करता है .
Voice Call तभी हो सकती है जब internet connection चालू रहे नहीं तो call drop हो सकती है.Internet connection के न होने से भी Voice Call किया जा सकता है.

Conclusion

LTE और VoLTE क्या है और इनके बीच क्या अंतर है मेने इस पोस्ट के माध्यम से आपको बता दिया है और उम्मीद करते है की आपको पोस्ट पसंद आयी होगी में ये भी उम्मीद करता हु की आप हमारी सभी पोस्ट को भी पढ़ते होंगे तो अगर आपको हमारे सभी पोस्ट अच्छी लगे है तो आप हमे Comment कर बता सकते है ताकि हम अपने Writing Skill में और Improvement कर सके

और आपने अभी तक हमारा Blog Subscribe नहीं किया है. तो Please कर ले but में ऐसी Tips और Trics आपके लिए लता रहता हु.Subscribe करने के लिए आपको अपना Email सबमिट करना है. थ्यं इसके बाद आपके पास एक Confirmation Mail आएगा जिसे Confirm कर देना है और ऐसा करते ही आप हमारे टीम मेंबर बन जाएंगे और सबसे पहली Post का Update आपको ही मिलेगा.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here