क्या आपको पता है की Google AMP क्या है या Accelerated Mobile Page क्या है और इसके फायेदे और नुकसान क्या हैं. यदि आप phone पे Internet का इस्तमाल कर रहे होंगे तब ये बात जरुर notice किया होगा की बहुत से Website के निचे AMP का symbol आता है जिसमे एक तीर का निशान होता है. क्या आपने इसके बारे में सोचा ही आकिर ये क्या है और इससे किसी site को क्या फायदा मिलता है. जैसे की हम सभी जानते हैं की जबसे Smartphones ने market में प्रवेश किया है तब से इनका इस्तमाल computer system के मुकाबले काफी बढ़ गया है.

एक report से पता चला है की दुनिया में करीब 75% लोगों के पास Mobile Phones हैं और जिनमे से 57% लोग Internet का इस्तमाल अपन phone से करते हैं. और इसी User Experience को बेहतर करने के लिए Google ने AMP की शुरुवात की ताकि लोग अपनी mobile में कोई भी website बड़ी जल्दी और आसानी से खोल सकते हैं. और ये लोगों द्वारा पसंद भी किया गया क्यूंकि ये ज्यादा Mobile Friendly है और इसके बहुत सारे benefits भी हैं. तो आज हम इस article Google AMP क्या होता है और इसके फायेदे और नुकसान क्या हैं में इसके बारे में पूरी तरह से जानेंगे. तो फिर देरी किस बात की चलिए शुरू करते हैं.

Google AMP क्या है (What is Google AMP in Hindi)

amps full formAMP या इसका full form होता है Accelerated Mobile Pages. ये एक Open-Source Framework होता है जिसके मदद से ये कोई भी pages को Mobile friendly pages में तब्दील करने में मदद करता है ताकि ये कोई भी content बड़ी आसानी से deliver कर सके. Basically ये एक Application का काम करता है जिसकी मदद से सभी web pages mobile friendly बन जाती है. इस application को इस हिसाब से बनाया गया है जो की web pages को खोलने में fast करता है. AMP में HTML, JS और Cache Libraries होती है जिसकी मदद से किसी भी website को ज्यादा User specific बनाती है और इसमें Rich content जैसे PDFs, video or audio होने के वाबजूद उसके load time को accelerate करती है mobile device के लिए.

Accelerated Mobile Pages या AMP bare-bone version होता है किसी भी website’s mobile pages का. ये application केवल उन्ही चीज़ों को display करता है जो की किसी website के pages में सबसे महत्वपूर्ण होता है और दूसरी चीज़ें जो की Website को load होने में समय लगाते हैं उन्हें ये ignore करता है. ऐसे में automatically mobile pages बहुत ही fast खुलती है. जिससे users को भी अधिक समय मिलता है website के content को पढने के लिए.

Also Read:

अब तक तो आप Google AMP के बारे में कुछ idea लगा लिए होंगे की ये हमारे लिए कितना ज्यादा important है तो चलिए अब नज़र डालते हैं इसके फायेदे और नुकसान के तरफ और जानते हैं की किसी website में इनके इस्तमाल से क्या Positive और Negative effects होते हैं.

Google AMP SEO के लिए कैसे इम्पोर्टेन्ट हैं ?

बहुत से ऐसे एरिया होते हैं जहाँ इंटरनेट connectivity अच्छी नहीं होती और Speed भी बहुत कम होती है. इस तरह के एरिया में Internet का प्रयोग करना और उसमे किसी webpage को ओपन करना ही मुश्किल होता है. उन एरिया में भी AMP एक बहुत अच्छा विकल्प है जिससे Low Connection Speed होने पर भी पेज बहुत जल्दी खुल जाता है.

Google के Survey के मुताबिक़ ये पाया गया है की कोई भी user जब किसी website के page को ओपन करता है. तो बस 2 -3 Seconds ही पेज खुलने इंतज़ार करता है. ऐसे में अगर website ज़्यादा समय लेती है तो फिर User किसी और वेबसाइट से अपनी इनफार्मेशन ले लेता है. भले ही आपके website में High Quality Content आपने लिखा हो लेकिन वेबसाइट Speed कम होने से लोग Page खुलने से पहले ही चले जाते हैं.अब आप बस सोचो की अगर आप AMP का इस्तेमाल करते हैं तो फिर ये आपके वेबसाइट की Loading Time बहुत कम कर देती है .

AMP का इस्तेमाल करने से वेबसाइट 1 Second से भी काम टाइम में खुल जाती है.तो अब आप समझ ही गए होंगे की इसके प्रयोग से हम अपनी ट्रैफिक को अच्छी खासी Increase कर सकते हैं और AMP User को अच्छी Browsing experience भी देती है. जब वेबसाइट की Loading Speed कम होगी तो ट्रैफिक भी अच्छी बढ़ेगी और इसीलिए AMP SEO को बहुत support करता है. अगर वेबसाइट स्पीड अच्छी होती है तो User को भी प्रभावित करता है और इससे user दुबारा वेबसाइट में आते हैं.

Google AMP (Accelerated Mobile Pages) कैसे शुरू हुआ ?

मोबाइल वेब की परफॉरमेंस को सुधारने के लिए Google ने News Publishers और Technology से जुडी कंपनियों से बात कर के 7 October 2007 Google AMP प्रोजेक्ट के बारे में announce किया। 30 News publisher और टेक्नोलॉजी कंपनियों जैसे Pinterest, linkedin और WordPress ने मिलकर Google के साथ इस प्रोजेक्ट की शुरुआत की।

Accelerated Mobile Pages (AMP ) एक Open Source Website Publishing Technology है, जिसका Design इस लिए किया गया ताकि वेबसाइट की Performance को सुधारा जा सके. और Users को बेहतर से बेहतर सेवा दी जा सके. Google ने AMP Version के web pages को पहली बार February 2016 में users को mobile search results में दिखाया। उसी साल में Facebook Instant Articles की भी शुरुआत की गई जो की Google AMP का एक Competitor की तरह माना गया.

इस तरह AMP की शुरुआत हुई और अब तो बहुत सारी वेबसाइट की AMP Version भी है.

Google AMP कैसे काम करता है ?

Google AMP Open web में काम करता है और लगभग हर Browser में ये support करता है. जब किसी वेबसाइट का AMP version बनाया जाता है तो वेबसाइट के Standard Page के Source Code के अंदर में HTML Tag में AMP Page के लिए एक लिंक तैयार हो जाता है. इस तरह से किसी भी वेबसाइट का AMP Version का Page भी display हो जाता है जब website का AMP version बनाते है.

वेबसाइट के AMP pages Web Crawlers की नज़र में जल्दी आ जाते हैं, इसलिए जो search engines और referring websites होते हैं वो AMP Version के लिंक को पहले search कर लेते हैं Standard version की तुलना में.

Google AMP SEO के लिए बहुत फायदेमंद है क्यों की ये बहुत fast pages को load करता है. AMP Pages इतना fast load होने का कारण क्या होता है ? Accelerated Mobile Pages इसीलिए बहुत fast load होता हैं क्यों की Standard Page का सिर्फ main content ही AMP Page में show किया जाता है. Widgets और extra contents जो Standard Page में होते हैं इन्हे AMP version में नहीं load किया जाता है. इस तरह page size बहुत कम हो जाती है और AMP page super fast speed से लोड हो जाता है. Google report के अनुसार AMP Pages जिसे Google search results में show करता है, वो 1 second से भी कम समय में लोड हो जाता है. Standard Page की तुलना में AMP Page 10 गुना कम डाटा का इस्तेमाल करता है.

AMP System 3 Main Parts में Divided है.

AMP HTML

ये HTML language पर ही काम करता है. Website के contents को अपनी जरुरत के अनुसार सेट कर दिया जाता है.

AMP Javascript

ये Main Source के Contents को manage करता है और जल्दी AMP Page को Load कराता है.

Google AMP Cache’s

ज़्यादातर AMP Pages जो होते हैं वो Google AMP Cache’s के द्वारा ही display किये जाते हैं.

लेकिन इसके अलावा भी दूसरी कंपनियां हैं जो AMP Cache को support करती हैं.

इस तरह की कंपनी Cloudflare है जो AMP Cache की सेवा देती है.

WordPress में Google AMP को कैसे setup करें?

बहुत सी websites पर आपको अलग-अलग लोग AMP setup करने के अलग-अलग तरीके बताएँगे. मैं आपको आज जो तरीका बताने वाला हूँ वो सबसे simple है और मुझे इसे setup करने में personally 10 minute से ज्यादा का समय नहीं लगा था.

  • आपको बस 2 plugins install करने है और थोड़ी सी configurations करनी हैं.
  • सबसे पहले official AMP plugin को install और activate कीजिये. (AMP Plugin)
  • इस plugin से आपकी WordPres site में AMP functionalities आएँगी. ये एक तरह से AMP के लिए base है.
  • उसके बाद आपको एक और plugin install और activate करना है जिसका नाम है: Accelerated Mobile Pages
  • इस plugin से हम AMP के base of customize कर सकते हैं. यानि कि ये एक configuration plugin है.
  • बस अब आप अपनी personal customization के हिसाब से अपने AMP pages को customize कर सकते हैं.
  • आपकी सुविधा के लिए मैं आपको अपनी site पर AMP settings के screenshots provide कर देता हूँ. बाकि आप पूर्ण रूप से इन settings को अपने हिसाब से कर लीजिये.
  • सबसे पहले जब आप इन दोनों plugins को install कर लेंगे तो आपके WordPress Dashboard के left pane में AMP का option आएगा. उसपर click कीजिये. यहीं पर आपको सारी configurations करनी हैं.Google AMPमैंने जो भी configurations की हैं, screenshots मैंने आपकी सुविधा के लिए नीचे दे दिए हैं. आपको बस इन configurations को अपनी site के हिसाब से करना है.
  • AMP > General

Accelarated Mobile Page

  • AMP > SEO

Google AMP 1

  • AMP > Single

Google AMP 2

  • AMP > Social

Google AMP 3

Configurations को करने के साथ-साथ Save Changes के button पर click करना मत भूलिए. इसके अतिरिक्त आप अपने AMP pages में ads भी लगा सकते हैं.

अपने AMP pages को check करने के लिए अपनी site के किसी भी page के URL के बाद बस amp लगा दें. जैसे कि:

technicalhariji.com/amp/

नोट: कई बार AMP pages में errors होते हैं जिस कारण से Google में आपके AMP pages index नहीं होते. तो उन errors को आप इस tool को use करके पता कर सकते हैं. फिर errors को करना आपका स्वयं का काम है. इसमें AMP का configuration plugin भी आपकी थोड़ी-बहुत मदद कर सकता है.

Also Read:

AMP के फायदे (Accelerated Mobile Pages)

1. Website की loading time को speed up करता है
अगर आप Mobile user हो तब तो आप ये जरुर notice किया होगा की AMP के implimentation से Websites की loading time में काफी इजाफा हुआ है. ये फालतू के extension को load नहीं करता जिससे sites fast खुलती है.

2. किसी Website के Server Performance को बढाता है
क्यूंकि sites fast खुलती हैं जिससे website में बहुत ज्यादा ट्रैफिक आता है और जिससे server के ऊपर ज्यादा load नहीं पड़ता और Server Performance बढ़ जाती है.

3. Mobile Ranking को बढ़ाने में मदद करता है
इससे directly तो mobile ranking नहीं बढती लेकिन indirectly जरुर बढती है क्यूंकि sites fast खुलती है जिससे website की response टाइम अच्छी हो जाती है और ट्राफीक भी बढ़ने लगता है और ultimately इससे mobile ranking बढती है.

4. Mobile Users को Surfing करने में मदद करता है
जैसे की हम जानते हैं की mobile में surf करना कितना मुस्किल होता है अगर वो slow load हो रहा हो तब. लेकिन AMP की मदद से loading time बहुत हद तक कम जाता है जिससे Mobile users की surfing में मदद मिलती है.

5. Informational Websites के लिए ये वरदान है
ये Information Websites के लिए इसलिए वरदान है क्यूंकि इन websites में ज्यादा videos या pictures नहीं होती और इनमें Text ज्यादा होती है और यदि ये फालतू के extension हट जाये तो website automatically fast हो जाती है.

AMP के नुकसान (Accelerated Mobile Pages)

1. Cache के मदद से website की performance बढता है
हाँ जरुर Cache की मदद से Website की performance बढती है लेकिन ये उस website के लिए negative effect डालता है क्यूंकि इसमें बहुत सी cache memory केवल site को store करने में इस्तमाल हो जाती है.

2. AMP website की Analytics के ऊपर ख़राब प्रवाह डालता है
हाँ AMP Google Analytics को support जरुर करता है लेकिन इसके लिए उन AMP pages में बहुत सारे अलग अलग tags का इस्तमाल करना पड़ेगा और ये इतना आसन नहीं है इसे impliment करने के लिए. और ये कुछ मात्रा में analytics का usage website में कम कर देता है. जो की website के ऊपर ख़राब प्रवाह डालती है.

3. Advertisement Revenue को कम करता है
जैसे की हम जानते हैं की AMP की इस्तमाल से website में Advertisement की मात्रा बहुत हद तक कम हो जाती है जिससे इसके advertisment revenue में काफी घाटा होता हैं और bloggers को अपनी earnings से कुछ हिस्सा खोना पड़ता है.

4. ये E Commerce website के लिए ठीक नहीं है
E Commerce Websites में सबसे ज्यादा ads होते हैं और वहां product को show करने के लिए ज्यादा pictures होते हैं और text सबसे कम होती है. AMP के इस्तमाल से ये सभी चीज़े हट जाएँगी जिससे की उनके revenue में असर पड़ेगा.

5. Ranking Factor इसके ऊपर निर्भर नहीं करता
Google ने साफ तोर से कह दिया है की website की रैंकिंग के लिए AMP की कोई भूमिका नहीं है. तो जो bloggers ये सोच रहे होंगे की AMP को implement करने से उनकी Blog के ranks बढ़ जायेंगे तो ये सरासर गलत है.

अब तक तो आप को अच्छी तरह से AMP के फायेदे और नुकसान के बारे में जानकारी हो गयी होगी. अब आप खुद ही decide कर सकते हैं की आकिर AMP आपके website के लिए सही है या नहीं. मेरे हिसाब से तो इनका इस्तमाल info pages, blog posts, informational websites में होना चाहिए.

Also Read:

The Practicality of AMP for Small Businesses

मेरे ख्याल से अब आप समझ गए होंगे के Google Accelerated Mobile Page (AMP) क्या है . Developers के लिए तो इसे implement करना बहुत ही आसान है लेकिन ये छोटे business owners के लिए अपनी website में इस्तमाल करना उतना आसान नहीं है. इसको इस्तमाल करने के लिए आपको कुछ technical knowledge जरुर चाहिए. यहाँ मैंने कुछ ऐसे method mention किया है जिससे की इसका implementation हो सकता है.

1. Coding It Directly
ये तरीका सबसे ज्यादा कठिन है क्यूंकि इसमें आपको अपने website के code को edit करना पड़ेगा जिसके लिए आपको HTML, CSS और JavaScript की समझ अच्छी तरह से होनी चाहिए.

2. Using a Content Management System
आपको ये जन के बहुत ही खुशी होगी की ऐसे कुछ CMS platform हैं जो की अब AMP support प्रदान कर रहे हैं. इन सब में WordPress सबसे आगे है क्यूंकि यहाँ AMP को implement करना सबसे आसान है. इसके अलावा दो और भी platform है Joomla and Drupal.

3. WordPress, Drupal, & Joomla
यदि आप WordPress का इस्तामला कर रहे हैं तब आप केवल AMP Plugin के इस्तमाल से अपने post को AMP में translate कर सकते हैं. Drupal के लिए Drupal AMP module और Joomla के लिए आप wbAMP का इस्तमाल कर सकते हैं.

Speed सभी websites के लिए जरुरी होता है आप चाहे छोटे हों या बड़े. Google AMP का मुख्य उदेश्य है की कैसे वो आपके site को Mobile Users के लिए fast करे. मेरे हिसाब से हमें थोडा समय देना चाहिए Google AMP को बढ़ने के लिए, हमें ये देखना चाहिए की आने वाले समय में ये कैसे develop कर रहा है. ये सभी बातों को नज़र में रखते हुए ही हमें सोचना चाहिए की AMP का इस्तमाल हमें अपने website में करना चाहिए या नहीं.

Conclusion

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को Google AMP क्या है? इसके फायेदे और नुकसान क्या हैंके बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को Google AMP के बारे में समझ आ गया होगा. और कही भी कुछ छुट रहा है तो आप हमे Comment करे कर बता सकते हो जिससे हम आपकी Help कर सके

आपने अभी तक हमारा Blog Subscribe नहीं किया है. तो Please कर ले but में ऐसी Tips और Trics आपके लिए लता रहता हु. Subscribe करने के लिए आपको अपना Email सबमिट करना है. थ्यं इसके बाद आपके पास एक Confirmation Mail आएगा जिसे Confirm कर देना है और ऐसा करते ही आप हमारे टीम मेंबर बन जाएंगे और सबसे पहली Post का Update आपको ही मिलेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here